झोलाछाप डॉक्टरों के विरूध प्रशासन की कार्रवाई जारी

सुसनेर।.पिडावा सुसनेर मार्ग पर ग्राम धन्याखेंडी के समीप एक खेत पर एक झोलाछाप डॉक्टर के द्ववारा मरीजों का इलाज की सूचना के बाद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.समन्दर सिंह मालवीय, एसडीएम के.एल.यादव,जनपद सीईओं पराग पंथी, एसडीओपी नाहर सिंह रावत, वरिष्ठ चिकित्सक आगर राजीव बरसाना, बीएमओं डॉ.मनीष कुरील के साथ 15 सदस्यीय प्रशासनिक अधिकारियों का एक दल मौके पर पहुंचा। मौके पर इजेक्शन दवाईयों की पर्ची आदि मिली जिसके बाद पंचनामा बनाया गया। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों की टीम झोलाछाप डॉक्टर देवीसिंह पिता भेरूसिंह सोधिया निवासी धान्याखेडी के घर पर पहुंची किन्तु यह घर से फरार हो चूका था। बाद में इलाज करने वाले झोलाछाप डॉक्टर के विरूध बीएमओं मनीष कुरील की शिकायत पर थाने में एफआईआर भी दर्ज की गई हैं। बता दे कि क्षैत्र में कोरोना महामारी के दौर में भी बड़ी संख्या में झोलाछाप डॉक्टरों के द्ववारा मरीजों का इलाज किया जा रहा हैं। कोरोना से पीड़ितों का बगैर जांच के इलाज किए जाने से अभी तक कई मरीजों के गंभीर अवस्था में पहुचने से मौत भी हो चूकी हैं। इसके पूर्व प्रशासन ने नगर में 3 झोलाछाप डॉक्टरों के निजी क्लिनिक सील करनें की कार्रवाई भी की थी। नगरीय क्षैत्र में झोलाछाप डॉक्टरों के विरूध कार्रवाई करने के बाद बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सूचना मिली की ग्रामीण क्षैत्रों में इसी तरह से झोलाछाप डॉक्टरों के द्ववारा खेत में इलाज किया जा रहा हैं। जिसके बाद अधिकारी यहॉ पहुचे। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग बीसीएम मुकेश सुयवंशी, सुपरवाईजर भेरूलाल राठौर, देवेन्द्र शास्त्री आदि मौज्ूद थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *