इंजेक्शन की कालाबाजारी करते तीन लोग पकड़ाए : चरक अस्पताल की दो नर्स और एक युवक गिरफ्तार 

आपदा में भी अवसर तलाश रहे लोग।

इंजेक्शन की कालाबाजारी करते तीन लोग पकड़ाए

चरक अस्पताल की दो नर्स और एक युवक गिरफ्तार

उज्जैन। कोरोना महामारी अपने चरम पर है और रोजाना कई मरीज  बेहतर इलाज नहीं मिल पाने के अपनी जान से हाथ धो रहे है , वंही कोरोना काल में   डॉ द्वारा लिखी राम बांड मानी जाने वाले इंजेक्शन रेमेडीसीवीर और   मेरोपेनम की काली बाजारी रुकने का नाम नहीं ले आरही है और ऐसे लोगो पर लगातार हो रही कार्यवाही के बाद अस्पताल कर्मी भी मानने को तैयार नहीं है।  आज फिर  साइबर टीम ने कार्यवाही की और दो नर्सो के साथ एक अन्य युवक को पकड़ा जिनके पास से पांच इंजेक्शन बरामद किये गए है जिसमे से दो  रेमेडीसीवीर और तीन मेरोपेनम इंजेक्शन है

उज्जैन के सरकारी अस्पताल चरक में नर्स का काम करने वाली दो नर्स राजश्री मालवीय , और एकता मालवीय को  साइबर की टीम ने रंगे हाथो कालाबाजारी करते हुए  थाना सेंटर कोतवाली में  गिरफ्तार किया है इनके साथ एक युवक को भी पुलिस ने धार दबोचा है जिसका नाम मयूर सोलंकी है दरअसल मयूर ही दोनों नर्सो के लिए ग्राहक को खोज कर लाता था।  जंहा ये दोनों नर्से मरीजों को लगने वाले इंजेक्शन   मरीजों को तो नहीं लगाती  और अपने पास बचाकर रख लेती थी। सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने बताया की साइबर टीम  को सफलता हाथ लगी है पकड़ाए गए आरोपी ने पूछताछ में बताया है की तीन इंजेक्शन वो पहले ही एसएस अस्पताल में किसी  एक लाख रुपए में  बेच चुके थे , चरक अस्पताल के कोविद वार्ड में काम करने वाली  नर्स इस पुरे घिनोने काम को अंजाम देती थी जंहा अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए इंजेक्शन शासन उपलब्ध करवाता था जिसमे से मरीजो को लगने वले इंजेक्शन को बचा लेती थी और बाजार में मयूर के माध्यम से बेच देती थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *