उज्जैन के श्मशान में जगह नहीं सड़क पर जलाना पड़ रही लाशें

उज्जैन।कोरोना का कहर उज्जैन शहर में लगातार बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना की चपेट में आकर अब मरने वाले लोगों की संख्या ज्यादा हो गई है। उज्जैन के शिप्रा तट चक्रतीर्थ स्थित श्मशान की हालत यह है कि यहां 24 घंटे लाशें जल रही है।अब श्मशान में भी प्रतिदिन इतनी अधिक संख्या में लाशें लाई जा रही है कि यहां उन्हें घाट पर निर्धारित स्थान पर जलाने की जगह ही नहीं मिल रही है। लाश लेकर आने वाले परिजनों को मजबूरन ऊपर सड़क पर ही लाश रखकर उन्हें लकड़ियों से जलाना पड़ रहा है। श्मशान में ऐसा मंजर तो शायद ही आज से पहले किसी ने देखा होगा। न कोई संस्कार न विधि। बस लाश लेकर आ रहे लोग जिसको जहां जगह मिल रही लाश जलाकर रवाना हो रहे हैं। श्मशान में काम करने वाले कर्मचारियों ने बताया कि दिनभर में बड़ी संख्या में लाशें आ रही है। यहीं लोग देरशाम व रात तक लाश लेकर आ रहे हैं। शिप्रा के किनारे अंतिम संस्कार के लिए बनाए गए स्थान पर पास-पास में दो-दो, तीन-तीन लाशें जल रही है तो नीचे की तरफ अब जगह ही नहीं बची है। इसलिए लोग मजबूरी में ऊपर की सड़क पर ही लाश रखकर उसे जला रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *