जबलपुर के 2 अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म होने से 5 मरीजों की मौत, 4 की हालत नाजुक

जबलपुर

मध्यप्रदेश के अस्पतालों में आॅक्सीजन की कमी से मौतों का सिलसिला रुक नहीं रहा है। जबलपुर में लिक्विड प्लांट में आई खराबी के कारण आॅक्सीजन सप्लाई बंद होने से गुरुवार सुबह 5 मरीजों की मौत हो गई। सभी वेंटिलेटर पर थे। वहीं 4 की हालत गंभीर है। यहां के मेडिसिटी अस्पताल में आॅक्सीजन खत्म होने से वेंटिलेटर पर 82 वर्षीय महिला की तड़प-तड़प कर जान चली गई। वहीं 4 की मौत सुख-सागर मेडिकल कॉलेज में हुई है।

भोपाल, सागर और इंदौर में आॅक्सीजन की कमी से कई कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी हैं। इंदौर में मरीजों के परिजनों से सिलेंडर मांगा जा रहा है। इस बीच सरकार ने 13 जिलों में नए आॅक्सीजन प्लांट खोलने की घोषणा की है।

पिछले 24 घंटे में मध्यप्रदेश के 4 बड़े शहरों में ही 4635 नए केस आए हैं और 25 मौतें हुई हैं। एक दिन पहले इन चार शहरों में 4511 केस आए थे और 24 की मौत हुई थी। सबसे ज्यादा नए केस इंदौर में 1693 नए मामले आए और छह कोरोना मरीजों की मौत हो गई। भोपाल में 1637 संक्रमित मिले, 8 लोगों की मौत हो गई। जबलपुर 653 मरीज आए और छह मरीजों की जान चली गई। ग्वालियर में 652 पॉजिटिव मिले और पांच ने जान गंवाई। बुधवार को गुना, रायसेन, रीवा, टीकमगढ़ और छतरपुर में भी लॉकडाउन लगा दिया गया है। अब तक प्रदेश के 52 जिलों में से 28 जिलों में या उनके शहरी क्षेत्रों में लॉकडाउन लगाया जा चुका है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *