ध्यानयोगी उत्तम स्वामी बने पंच अग्नि अखाड़े के महामंडलेश्व

हरिद्वार में भव्य पट्टाभिषेक समारोह में बांसवाड़ा को मिला गौरव

इंदौर। देशभर में ध्यानयोगी के नाम से ख्यात उत्तम सेवा धाम बांसवाड़ा के उत्तम स्वामी महाराज को पंच अग्नि अखाड़े के महामण्डलेश्वर का गौरव प्रदान किया गया है। शनिवार को हरिद्वार में आयोजित पट्टाभिषेक समारोह में ध्यानयोगी उत्तम स्वामीजी को यह उपाधि अखाड़े के संत-महंतों ने सनातनी परंपरा के अनुसार प्रदान की।

हरिद्वार महाकुंभ के पावन अवसर पर सनातनी अखाड़ा परिषद के प्राचीनतम एवं प्रतिष्ठित श्री पंचअग्नि अखाड़े के द्वारा श्री महामण्डलेश्वर की पदवी से अलंकृत किया गया। महामंडलेश्वर पद पर पट्टाभिषेक समारोह दौरान आचार्य महामंडलेश्वर, पंचों सहित कई संत महंतों ने उत्तम स्वामी महाराज को माला पहनाकर व शॉल ओढ़ाकर अभिनंदन किया और उन्हें वैदिक ऋचाओं के पाठ के बीच परंपरागत अनुष्ठानों के माध्यम से अभिषेक किया गया।

पट्टाभिषेक समारोह में उत्तम स्वामी महाराज को पंच अग्नि अखाड़े के आचार्य महामण्डलेश्वर रामकृष्णानंदजी (अमरकंटक), सभापति महंत मुक्तानंद ब्रह्मचारी महाराज, महामंत्री महंत सोमेश्वरानंद महाराज, अग्निपीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर ब्रह्मर्षि रामकृष्णानंद, सचिव संपूर्णानंद महाराज, अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्रगिरि, महामंडलेश्वर मां कनकेश्वरी देवी, द्वारिका सनातन सेवा मण्डल के केशवानंदजी महाराज, संत हरिचेतानंद, चित्रकुट धाम के कृष्णानंदजी, संत प्रेमानंद, निलेश चेतनजी, उत्तराखंड भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष मदन कौशिक, रामजन्मभूमि न्यास के महामंत्री चंपकराय, मुक्तानंद सहित 13 अखाड़ों के आचार्य, महामंडलेश्वर, संत-महंत और बड़ी संख्या में गुरुभक्त मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *