मास्क न पहनने पर युवक को सरेराह लात घूँसों से जानवरों की तरह पीटा, कपड़े फाड़े

इंदौर।  इंदौर में भयाक्रांत करने वाला यह बेहद खतरनाक और गंभीर दृश्य है।  जो वीडियो इस वक्त सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा है उसे देखने से पता चलता है कि मास्क न पहनने पर एक युवक को पुलिस ने सरेआम- सरेराह इतना मारा- पीटा कि आसपास खड़े लोग दहशत में आ गए। खाकी का खतरनाक खौफ शायद ही किसी ने इस तरह देखा हो, जब सिर्फ मास्क नहीं पहनने पर उसे जानवरों की तरह मारा-पीटा गया हो। परिवार की महिलाएं चीख रही हैं, विनती कर रही हैं कि इसे मत मारो। मासूम  बच्चा पापा – पापा कह कर अपने पिता को न मारने के लिए गुहार करता रहा , लेकिन खाकी का दिल नहीं पसीजा। मास्क न पहनने पर अभी तक नगर निगम की पीली गैंग का आतंक क्या कम था, जो अब खाकी का खौफ भी इस कदर इंदौर शहर पर छा गया है ?  यदि यही हालात रहे तो लोग घरों से बाहर निकलना भी छोड़ देंगे। मास्क पहनना अनिवार्य है यह और बात है। जो लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही के निर्देश हैं। इसके तहत उन पर तगड़ा जुर्माना ठोका जा सकता है , उन्हें अस्थाई जेल में बंद किया जा सकता है ,लेकिन जानवरों की तरह सरेराह पीटने, उस युवक के कपड़े फाड़ देने और उसकी लाख चीख-पुकार के बावजूद उसे लात घूँसों से मारने- पीटने का यह मामला कानून की धज्जियां उड़ा रहा है। कानून के रखवालों की यह करतूत देखकर शायद ही कोई उनके इस आतंक से इत्तेफाक रखेगा। दैनिक अवंतिका  किसी अपराध या अपराधी के पक्ष में नहीं है, लेकिन इंदौर कलेक्टर और इंदौर आईजी ,डीआईजी से अपील करता है कि यदि यह सिर्फ मास्क नहीं पहनने को लेकर की गई कार्यवाही है तो इस तरह के कृत्य रोके जाने चाहिए। मास्क पहनना अनिवार्य है , लेकिन इसका यह अर्थ तो नहीं की सामने वाले को इतना मारो कि उसकी  जाए पर ही बनाए और चारों तरफ दहशत का माहौल बन जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *