शासकीय स्कूल में स्टाफ सहित 14 लोग कोरोना पॉजिटिव

6 शिक्षक, 1 प्यून सहित 7 बच्चे हुए संक्रमित, सेनेटाईजेशन कर स्कूल किया बंद
देवास। इन दिनों शहर व जिले में कोरोना संक्रमण फैलते जा रहा है, बावजूद कई निजी स्कूल संचालक बच्चों को स्कूल में बुला रहे हैं। वैसे तो स्कूलों में कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक के बच्चों को बुलाया जा रहा है। बाकी छोटी कक्षा के बच्चों को ऑनलाईन माध्यम से पढ़ाई स्कूल प्रबंधकों के द्वारा कराई जा रही है। इधर कोरोना संक्रमण भी तेजी से फैल रहा है, जिससे संक्रमित होने का भय भी बना हुआ है। ऐसे में स्कूली बच्चों के अभिभावक भी बच्चों को स्कूल भेजने में सहमे हुए नजर आ रहे हैं। कोरोना संक्रमण के चलते ही शनिवार को शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यायल क्रमांक 2 में 6 शिक्षक, एक प्यून सहित 7 बच्चे कुल 14 लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं। जिसके चलते शनिवार से ही स्कूल को बंद कर दिया है। वहीं अब बुधवार से स्कूल संभवत: शुरू हो सकेंगे।
कोविड-19 के प्रति जागरूकता अभियान सरकार और प्रशासन लगातार चला रही है जिसके बावजूद कोविड के लिए सतर्कता नहीं बरती जा रही है। शनिवार को देवास के शासकीय विद्यालय में कोरोना का विस्फोट हो गया जहां उत्कृष्ट विद्यालय में 9 वीं से 12वीं तक छात्र अध्यनरत है। जो शिक्षक शिक्षिकाओं सहित 14 पॉजिटिव पाए गए है। वहीं ऐसा बताया गया कि कुछ दिनों पूर्व ही स्कूल के 2 छात्र पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद स्कूल में सभी की सेंपलिंग करवाई गई थी। जिनमें शिक्षक शिक्षिकाओं व प्यून व बच्चों के सहित कुल 14 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बताया गया है की सभी को होम क्वॉरेंटाइन कर दिया है। उपचार के लिए कोविड दवाइयों का पैकेज भी दे दिया गया। उसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम को बुलाकर पूरे स्कूल को सैनिटाइज किया जाने का काम भी किया गया। बताया जा रहा है कि कोविड नियमों के अंतर्गत स्कूल खोले गए थे। जिसके बावजूद लापरवाही के चलते कोरोना विस्फोट हुआ है। वहीं शासन के निर्देशानुसार विद्यालय में पढऩे वाले छात्र नौवीं से बारहवीं के छात्र हैं विद्यालय में प्रवेश करने के लिए निर्देशित किया गया था। अब ऐसे में बच्चे ही संक्रमित हुए है जिस पर शासन प्रशासन को स्कूलों पर ध्यान देना जरूरी हो गया है।
संख्या में हो सकती है वृद्धि
बताया जा रहा है की पॉजिटिव की संख्या में वृद्धि हो सकती हैं अभी तक 14 पॉजिटिव निकले हैं। जबकि शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यायल क्रमांक 2 में 300 बच्चे व 40 से अधिक का स्कूली स्टॉफ प्रतिदिन आ रहे थे। बताया गया है की गत दिनों एक स्कूल में अध्ययनरत बच्ची कोरोना संक्रमित हुई थी जिसके बाद से सभी सेंपलिंग हुई है लेकिन संभावना व्यक्त की जा रही है की और भी संक्रमित पाए जा सकते हैं जिसको लेकर भी स्कूल प्रबंधक अब सभी से संपर्क बनाए हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *