बंगाल में दूसरे फेज में 80% वोटिंग:नंदीग्राम पहुंची ममता ने कहा- बूथ कैप्चरिंग हुई, EC ने नहीं सुनी तो कोर्ट जाऊंगी

नई दिल्ली

पश्चिम बंगाल और असम की 69 सीटों पर गुरुवार को दूसरे फेज के चुनाव के लिए वोटिंग हुई। बंगाल में हिंसा की कुछ घटनाओं और बूथ कैप्चरिंग के आरोपों के बीच 80% से ज्यादा लोगों ने वोट डाले। चुनाव आयोग के मुताबिक, शाम 6 बजे तक बंगाल में 80.43% और असम में 74.64% मतदान हुआ है। बंगाल में पहले फेज में 79.79% और असम में 72.14% वोटिंग हुई थी।इस बीच, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और नंदीग्राम सीट से TMC उम्मीदवार ममता बनर्जी ने भाजपा पर बूथ कैप्चरिंग का आरोप लगाया। उन्होंने चुनाव आयोग (EC) से इसकी शिकायत भी की। वहीं चुनाव आयोग ने भी देर शाम जारी अपने बयान में ममता के आरोपों को खारिज करते हुए किसी भी गड़बड़ी से इन्कार किया है।आयोग ने बताया कि पश्चिम बंगाल निर्वाचन अधिकारी के माध्यम से आज देर शाम राज्य की मुख्यमंत्री ने शिकायत भेजी है। स्पेशल ऑब्जर्वर अजय नायक और स्पेशल पुलिस ऑब्जर्वर विवेक दुबे से शुक्रवार शाम 6 बजे तक रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए गए हैं। नंदीग्राम सीट से ममता का मुकाबला कभी उनके सहयोगी रहे शुभेंदु अधिकारी से है जो भाजपा के टिकट पर यहां से चुनाव लड़ रहे हैं।

शाह सीधे केंद्र के भेजे सुरक्षाकर्मियों को आदेश दे रहे हैं
नंदीग्राम के बोयल में बूथ नंबर-7 के बाहर बैठी ममता बनर्जी ने कहा कि हम सुबह से चुनाव आयोग में 63 शिकायतें दर्ज करा चुके हैं। लेकिन एक पर भी कार्रवाई नहीं हुई। हम इसे लेकर अदालत जाएंगे। निर्वाचन आयोग अमित शाह के निर्देश पर काम कर रहा है। ममता की पार्टी के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया था कि यहां कई मतदाता अपना वोट नहीं डाल पाए।भाजपा ने कई जगह बूथ कैप्चरिंग की है। ममता ने कहा कि भाजपा के बाहरी गुंडे यहां अराजकता फैला रहे हैं। ममता ने स्थिति के बारे में शिकायत करने के लिये पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को भी फोन किया। धनखड़ ने इसके ठीक बाद सोशल मीडिया के जरिए बताया कि ममता बनर्जी द्वारा फोन पर कुछ समय पहले उठाए गए मुद्दों से संबंधित अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *