मोहित बनकर माहिद ने फ्रेंडशिप की, दोस्तों के साथ गैंगरेप, गर्भवती होने पर छोड़ा, बच्चे की मौत

उज्जैन

उज्जैन में लव जिहाद का एक मामला सामने आया है। यहां माहिद ने मोहित बनकर एक 15 साल की नाबालिग लड़की को फंसाया। उसके साथ दुष्कर्म किया और अपने दोस्तों से भी उसका रेप करवाया और गर्भवती होने पर उसे उसकी बहन के पास भेज दिया।इस मामले में केस उज्जैन में रजिस्टर हुआ है, लेकिन जांच 3 राज्यों में होनी है। दरअसल, पीड़ित MP के बड़वानी की रहने वाली है। वो काम करने महाराष्ट्र के मालेगांव गई थी। यहां उसे UP के औरैया में रहने वाला माहिद मिला। माहिद ने पीड़ित को अपना नाम मोहित बताया और धोखा देकर दोस्ती कर ली। माहिद पीड़ित को अपने साथ मालेगांव से पुणे, दिल्ली और फिर औरैया ले गया। इस बीच उसके दोस्तों ने भी लड़की से दुष्कर्म करना शुरू कर दिया।नाबालिग ने बच्चे को जन्म दिया, बाद में मौत
नाबालिग के गर्भवती होने के बाद माहिद ने उसे बस में बैठाकर उसकी बहन के पास उज्जैन भेज दिया। यहां लड़की ने एक दिव्यांग बच्चे को जन्म दिया, जिसकी बाद में मौत हो गई। ASI रशीद खान ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। मामला कई शहरों से जुड़ा हुआ है, इसलिए शून्य पर केस दर्ज कर इसे बड़वानी ट्रांसफर किया जा रहा है।हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने बुलाकर पीटा
नाबालिग की बहन ने उसे उज्जैन के जिला अस्पताल में भर्ती कराया। यहां पीड़ित के बगल में एक लड़की एडमिट थी। नाबालिग ने उसे पूरी दास्तान सुनाई। उस लड़की का परिचित हिंदू जागरण मंच में था। लड़की ने अपने परिचित को घटना के बारे में बताकर मदद मांगी। हिंदू जागरण मंच के लोगों ने पीड़ित को विश्वास में लिया। पीड़ित ने माहिद को फोन कर उज्जैन बुलाया। उसके आते है हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने पकड़कर उसकी पिटाई की और देवास गेट पुलिस के हवाले कर दिया।नाबालिग की दास्तान, उसी की जुबानी
‘​​​​​माहिद मुझे ​मालेगांव में मिला। उसने मुझे अपना नाम मोहित बताया और दोस्ती की। उनसे मेरे साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद वह औरैया और दिल्ली ले गया। यहां उसके दो दोस्त कमाल और खुर्शीद ने भी दुष्कर्म किया। माहिद ने मुझे पुणे, मालेगांव, औरेया और दिल्ली में रखा। तीनों दिल्ली में गैंग चलाते हैं। छोटे छोटे बच्चों को पकड़कर मारपीट करते हैं और हाथ-पांव काटने की धमकी देते हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *