महाराष्ट्र से आने-जाने वाली बसों पर प्रतिबंध 30 अप्रैल तक बढ़ा

भोपाल

मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर को कंट्रोल करना चुनौती बनता जा रहा है। सरकार ने महाराष्ट्र से आने-जाने वाली बसों पर लगा प्रतिबंध एक माह (30 अप्रैल तक) बढ़ा दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को कहा कि जिस तरह से संक्रमण बढ़ रहा है, उसे देखते हुए स्कूल फिलहाल नहीं खोले जाएंगे। रंगपंचमी पर सार्वजनिक आयोजन नहीं होगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि बुधवार को सभी कमिश्नर, कलेक्टर, आईजी, एसपी, सीएमएचओ, जिला पंचायत के सीईओ की वर्चुअल मीटिंग कर रहे हैं। बैठक में विशेषकर हम तीन मुद्दों पर चर्चा करेंगे। सबसे पहला और महत्वपूर्ण मुद्दा कोरोना संक्रमण है। इसे नियंत्रित करने के लिए जो रणनीति आइडेंटिफिकेशन,आइसोलेशन और टेस्टिंग ट्रीटमेंट (आईआईटीटी ​​​) ​पर फोकस किया गया है, उसका रिव्यू करेंगे।उन्होंने कहा कि अस्पताल में बेड की कमी ना रहे, यह हमारे सामने चैलेंज है। मैंने कल भी बैठक में सभी अफसरों से इसके लिए रिव्यू करने के निर्देश दिए थे, हम कितने बिस्तरों की व्यवस्था कर सकते हैं। इसके लिए जरूरी मैन पावर जरूरी व्यवस्थाएं वह खड़ी करना है उसकी तैयारी की भी समीक्षा की जाएगी। संक्रमितों के संपर्क में आने वालों की होगी ट्रेसिंग
मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमित के निकटतम लोगों की पहचान संदिग्ध होने पर उन्हें आइसोलेशन व्यवस्था करना अब अनिवार्य किया जा रहा है। अगर किसी का घर छोटा है, तो उसमें आइसोलेट करने से फायदा नहीं, उसके लिए व्यवस्था बनाने पर हम विचार करेंगे।जहां ज्यादा मामले, वहां वैक्सीनेशन तेज होगा
जहां ज्यादा मामले हैं, वहां टेस्टिंग भी बढ़ाई जाएगी। इसके साथ ही इन शहरों में 1 अप्रैल से 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन जिलों और नगरों में ज्यादा संक्रमण है, वहां वैक्सीनेशन के अभियान को हम युद्ध स्तर पर चलाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *