चिंतामन की जत्रा पर कोरोना का असर, भीड़ कम, बाहर से दर्शन

उज्जैन।

उज्जैन के प्रसिद्ध चिंतामन गणेश मंदिर में बुधवार को चैत्र मास की पहली जत्रा लगी लेकिन इसका असर भी साफ दिखाई दिया। बहुत कम संख्या में लोग दर्शन के लिए उमड़े। दर्शन की व्यवस्था भी मंदिर समिति ने बाहर से ही की थी। हर बार जत्रा में हजारों की संख्या में लोग उमड़ते हैं और लंबी लाइन लगती है पर अभी श्रद्धालुओं की संख्या बहुत कम नजर आई हालांकि समिति के प्रबंधक अभिषेक शर्मा ने बताया कि दिनभर में 7-8 हजार लोगों ने दर्शन किए। प्रशासन ने बाहर फूल-प्रसाद की दुकानें खोलने की अनुमति भी नहीं दी थी। इस कारण दुकानें बंद रही। केवल श्रद्धालुओं ने लाइन में लगकर कोरोना से सुरक्षा की गाइड लाइन का पालन करते हुए दर्शन किए।

जल्दी पट खोलकर किया शृंगारमंदिर के सुबह जल्दी पट खोलकर चिंतामन गणेश का अभिषेक-पूजन कर शृंगार किया। पुजारी शंकर गुरु ने बताया गणेशजी को लड्डू का भोग लगाकर आरती की गई। रात में आरती-पूजन के पश्चात पट बंद किए गए। दिनभर श्रद्धालुओं ने आकर्षक शृंगार के दर्शन किए। 3 और बुधवार को लगेगी जत्रा

भगवान चिंतामन गणेश के दरबार में चैत्र मास की कुल चार जत्रा लगती है। पहली जत्रा संपन्न होने के बाद अब आने वाले 3 और बुधवार को जत्रा लगेगी। दूसरी जत्रा 7 अप्रैल, तीसरी 14 अप्रैल, चौथी व आखिरी जत्रा 21 अप्रैल को आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *