इंदौर की जेलों में फिर टूटा कोरोना का कहर, कई स्टाफ हुए संक्रमित

इंदौर
इंदौर की जेलों में पिछले साल की तरह इस बार भी कोरोना का कहर टूट पड़ा है। केन्द्रीय जेल इंदौर के कल्याण अधिकारी अभिषेक कुमार दांगी, कंपाउंडर अजीत हेजु, कंपाउंडर संदीप कुमार, मुख्य प्रहरी राजेन्द्र बाथलिया, प्रहरी महेंद्र कुमार, गोविंद भंवर और धर्मेन्द्र कटारे को कोरोना हो गया है। सहायक जेलर कुशवाह भी क्वारंटीन में है । एक कैदी की कोरोना से संदिग्ध मौत के बाद जेल अधीक्षक भांगरे ने बंदियों की कोरोना की जांच करानी बंद करा दी है और गुपचुप तरीके से बीमार बंदियों का उपचार करा रहे है। पैरोल से 500 बंदियों के आने से जेल में सोशल दूरी का पालन नहीं हो पा रहा है। बैरक ठसा ठस भरा है। अगर बंदियों को पैरोल पर नही छोड़ा गया तो डर है कि कहीं कोरोना बम केंद्रीय जेल में ना फूट जाए । वही मूसाखेड़ी की सीआई जेल में जेलर आलोक वाजपेयी और दो बंदियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है । बता दें कि मध्यप्रदेश के तीन जिले भोपाल, इंदौर और जबलपुर में मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। प्रदेशभर में रोज सामने आ रहे कुल मामलों में से करीब 55 फीसदी मामले इन्हीं जिलों में से हैं। सिर्फ वहीं सबसे ज्यादा संक्रमित इंदौर में मिल रहे तो सक्रिय मामले भोपाल में बढ़ रहे हैं।यही नहीं लोग कोरोना संबंधी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन भी कर रहे हैं। यही वजह है कि इंदौर में एक फार्म हाउस से कोविड-19 नियमों के उल्लंघन मामले में सोमवार को नौ लोगों के गिरफ्तार होने की खबर सामने आई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *