डॉग स्क्वाड के लिए लाए गए श्वानों में से दस से अधिक की मौत

भोपाल । पुलिस के डॉग स्क्वाड के लिए लाए गए देसी नस्ल के 20 श्वानों (पिल्लों) में से दस से अध‍िक की मौत हो गई है। इन श्वानों को करीब 15 दिन पहले भोपाल लाया गया था। श्वानों की मौत पारगो वायरस के संक्रमण से होना बताया गया है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में देसी नस्ल के श्वानों की विशेषताओं को रेखांकित किया था।इससे प्रभावित होकर मध्य प्रदेश पुलिस ने अपने डॉग स्क्वाड में इन्हें शामिल करने का फैसला किया और करीब 15 दिन पहले देश के विभिन्न हिस्सों में पाई जाने वाली नस्लों के 20 श्वान लाए गए। सूत्रों का कहना है कि बीते कुछ दिनों में ही इनमें से 10 से अध‍िक की मौत हो गई है।श्वानों की मौत की आधि‍कारिक पुष्टि तो की गई, लेकिन इनकी संख्या को लेकर जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई। बताया जा रहा है कि जो श्वान बचे हैं, उनमें से कई की हालत नाजुक है। 23वीं बटालियन के कमांडेंट मोहम्मद युसूफ कुरैशी ने बताया कि श्वानों में इन दिनों पारगो वायरस का संक्रमण फैला हुआ है। इसी से यह मौतें हुई हैंडॉग स्क्वाड के पशु चिकित्सक इनका इलाज कर रहे थे। शहर के अन्य पशु चिकित्सकों से भी संपर्क किया गया था। यह वायरस बड़ी उम्र के श्वानों को भी प्रभावित कर रहा है। उधर इस मामले में आरोप लगे हैं कि इन श्वानों की देखभाल में लापरवाही बरती गई है। जब इन श्वानों को लाया गया था, तब भी ये कमजोर हालत में थे। कमजोर श्वानों को लाने को लेकर सवाल उठ रहे हैं। हालांकि इन आरोपों को लेकर विशेष सशस्त्र बल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मिलिंद कानस्कर से उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *