शिप्रा नदी में विस्फोट की ONGC ने शुरू की जांच:देहरादून से आई 2 सदस्यीय टीम

उज्जैन

शिप्रा नदी में फरवरी-मार्च में हुए विस्फोट की जांच ONGC ने शुरू कर दी है। रविवार को देहरादून से ONGC की दो सदस्यीय टीम उज्जैन पहुंची। टीम में महाप्रबंधक (केमेस्ट्री) अमित सक्सेना और वरिष्ठ भू-वैज्ञानिक अजय एन लाल शामिल हैं। टीम ने सात से आठ स्थानों से पानी और नदी के अंदर की मिट्‌टी के सैंपल लिए हैं। टीम को पानी में किसी गैस का रिसाव नहीं मिला। 15 दिन के अंदर टीम अपनी जांच रिपोर्ट उज्जैन कलेक्टर को सौंप देगी।

किसी तरह की गैस निकलने की संभावना से किया इनकार
भू-वैज्ञानिक अजय लाल ने बताया कि अभी सैंपल लिए गए हैं। इतनी जल्दी किसी निष्कर्ष पर पहुंच पाना आसान नहीं है। जांच के बाद भी कुछ भी कह पाना संभव होगा। उन्हाेंने बताया कि जो भी स्पाॅट देखे गए हैं वहां पानी में न तो बुलबुले ही निकल रहे हैं और न ही किसी तरह की गैस का रिसाव होते मिला है। इसलिए गैस का कलेक्शन नहीं हो पाया।

GSI भी कर चुकी है जांच
नदी में हो रहे विस्फोट की जांच जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) भोपाल की टीम भी जांच कर चुकी है। कुछ दिनों पहले ही GSI की टीम ने नदी से गाद और पानी के सैंपल लिए थे। उनकी जांच रिपोर्ट अभी सार्वजनिक नहीं हुई है।

विस्फोट के बाद निकला था धुआं इस साल फरवरी के आखिरी और मार्च के पहले हफ्ते में शिप्रा नदी के त्रिवेणी घाट स्थित बने चेकडैम के आसपास विस्फोट और धुएं निकलने की फोटो वायरल हुई थी। गोठड़ा गांव के लोगों ने विस्फोट हाेने और धुआं निकलने की जानकारी प्रशासन को दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *