मंत्री पर डकैती के आरोप का मामला विस में गूंजा:कांग्रेस ने कहा- जब्त वाहन छुड़ाने में मंत्री उषा ठाकुर का नाम शामिल

पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर पर लगा डकैती के आरोप का मामला विधानसभा में भी गूंजा। जवाब में वन विभाग के अधिकारियों ने पुष्टि की, पंचनामे में मंत्री उषा ठाकुर का नाम भी शामिल है। मामले में वनपाल का तबादला भी कर दिया गया था।

कांग्रेस विधायक सज्जनसिंह वर्मा, गोविंदसिंह व विपिन वानखेड़े ने विधानसभा में पूछा, दबंगई से जब्त जेसीबी व ट्रैक्टर छुड़वाने में मंत्री का नाम शामिल है या नहीं? इसके अलावा विभाग ने अब तक इसमें क्या कार्रवाई की है? जवाब में इंदौर के वन विभाग के कन्जर्वेटर ने बताया, अधिकारी द्वारा दायर कराई गई रिपोर्ट के पंचनामे में मंत्री का नाम भी शामिल है। इसके साथ ही सात बिंदुओं पर अलग-अलग जवाब मांगे गए थे, जिनकी जानकारी भेज दी गई।

ये है मामला

ग्राम बड़गोंदा में मनोज पिता अशोक पाटीदार द्वारा 10 जनवरी को रास्ता बनाने के लिए खुदाई की जा रही थी। इस पर डिप्टी रेंजर दुबे ने स्टाफ के साथ जाकर खुदाई रुकवाई। बुलडोजर और ट्रॉली को जब्त कर परिसर में खड़ा करवा दिया था। कार्रवाई दौरान मनोज का स्टाफ से काफी विवाद भी हुआ था। मंत्री समर्थक होने की भी धौंस दी गई थी।

11 जनवरी को विधानसभा में मंत्री का कार्यक्रम था। इसी में मनोज ने इसकी जानकारी मंत्री को दी थी। डिप्टी रेंजर का आरोप है कि प्रोग्राम खत्म होने के बाद मनोज समेत 20 लोग कैंपस में घुसे। मंत्री भी बाहर ही खड़ी थीं। बुलडोजर और ट्रॉली वह बगैर अनुमति लेकर चले गए। इस पर मंत्री ठाकुर, मनोज, सुनील यादव, अमित जोशी, वीरेंद्र आंजना, सुनील पाटीदार, प्रदीप पाटीदार, सुरेश कुंवर सिंह सहित अन्य के खिलाफ केस दर्ज करने का आवेदन दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *